RAS Full Form? RAS Kya Hota hai – RAS Kaise Bane?

इस पोस्ट के अंदर हम बात करने वाले RAS के बारे में! RAS से संबंधित काफी लोगों को सवाल रहता है कि RAS Full Form अर्थांत आर.ए.एस का पूरा नाम क्या होता है तो ऐसी जानकारी आज आपको हम इस पोस्ट में बता देते हैं कि RAS Kya hota hai – RAS Kon hota hai? RAS कैसे बनते है? ऐसे सभी सवालों के जवाब आपको आसान भाषा में इस पोस्ट के अंदर मिल जाएंगे ज्यादा जानकारी के लिए आप इस पोस्ट को पूरा पढ़ें।

RAS Full Form & RAS Ka Full Form In Hindi?
RAS Full Form

RAS Full Form & RAS Ka Full Form in Hindi?

सबसे पहले आर एस फुल फॉर्म के बारे में बता दे! RAS Full Form – Rajasthan Administrative Service है। आर.ए.एस का हिंदी में मतलब – राजस्थान प्रशासनिक सेवा है। यह राजस्थान सरकार के अधीन एक बोर्ड है इसमें राज्य के प्रशासनिक अधिकारियों का चयन होता है।

RAS Full Form – RAS Ka Full Form?

  • R – Rajasthan
  • A – Administrative
  • S – Service

(RAS) आर ए एस का हिंदी में अर्थ – राजस्थान प्रशासनिक सेवा है।

RAS Kya hota hai – RAS Kon Hota hai?

आप लोगों ने काफी जगह वीडियोस अखबारों और मोबाइल पर आर ए एस के बारे में सुना होगा और जानना भी चाहा होगा ये आखिरकार RAS Kya hota hai – RAS Kon hota hai लेकिन आज हम आपको RAS से संबंधित सरल भाषा में जानकारी देंगे आपके मन में जितने भी सवाल है RAS के बारे में उन सभी के जवाब आज हम आपको देंगे। आर.ए.एस कैसे बनते हैं? भी जानकारी देंगे।

RAS Kon hota hai? RAS Kaise Bane?
RAS Kon hota hai? RAS Kaise Bane?

हमारे भारत देश में जितनी भी सरकारी नौकरियां होती है उसे दो भागों में बाटा जाता है। पहले भाग में वह नौकरियां आती है जो कि सेंट्रल गवर्नमेंट के अधीन होती है इसमें कर्मचारियों का चुनाव सेंट्रल गवर्नमेंट के द्वारा किया जाता है इसमें मुख्यता रेलवे, बैंक, संस्थाएं आदि सेंट्रल गवर्नमेंट के अधीन आती है।

दूसरे भाग में उन नौकरियों को रखा गया है जो स्टेट गवर्नमेंट के अंदर आती है यानी कि राज्य सरकार के अधीन होती है इसके अंदर नौकरियों के लिए कैंडिडेट का चुनाव राज्य की सरकार के द्वारा ही किया जाता है।

आसान भाषा में बता दे RAS राजस्थान सरकार का ही अंग हैं। इसमें राजस्थान सरकार के अधीन में जितने भी प्रशासनिक ऑफिसर यानी कि कार्यकर्ता आते हैं उन सभी का चुनाव RAS द्वारा ही किया जाता है। आर ए एस की शुरुआत सन 1950 ईस्वी में हुई थी। राज्य में जितने भी अलग-अलग डिपार्टमेंट होते हैं उन्हें संभालने के लिए आर.ए.एस अधिकारी को नियुक्त किया जाता है।

आपको बता दें जो भी कैंडिडेट राजस्थान सरकार में प्रशासनिक ऑफिसर की नौकरी करना चाहते हैं तो उसे आर ए एस द्वारा जारी की गई भर्तियों के अनुसार ही फॉर्म को भरना होता है RAS के फॉर्म के लिए राजस्थान सरकार ने अलग-अलग योग्यताएं निर्धारित की हुई है इन सभी योग्यताऐ को पूरा करते ही आर एस के फॉर्म को व्यक्ति भर सकता है।

RAS Kaise Bane – आर.ए.एस कैसे बनते हैं?

अगर आप लोग RAS की तैयारी करना चाहते हैं तो उससे पहले आपको उनकी योग्यताओ के बारे में अच्छे से जान लेना चाहिए। राजस्थान सरकार ने इसके लिए कुछ योग्यता निर्धारित की है जो कि बहुत ही आवश्यक है इसके बिना आप आर ए एस के लिए अप्लाई नहीं कर पाएंगे। RAS बनने के लिए राजस्थान सरकार ने कई सारे प्रोसेस बनाए हैं जिन्हे आपको पास करना होता है उन प्रोसेस के बारे में और योग्यता के बारे में हम आपको आगे बताते हैं।

RAS पद की नियुक्ति के लिए राजस्थान सरकार के संगठन यानी कि राजस्थान लोक सेवा आयोग के द्वारा तीन चरणों में परीक्षा का आयोजन किया जाता है। प्रथम चरण में प्री एग्जाम होता है इस एग्जाम के अंदर 150 बहुविकल्पीय सवाल आते हैं इसमें 3 घंटे का समय होता है इसके अंदर अलग-अलग विषय इतिहास, भूगोल, राजनीतिक और करंट अफेयर्स से जुड़े प्रश्नों को पूछा जाता है और उसके बाद उसे दूसरे चरण की परीक्षा में प्रवेश पाने के लिए विद्यार्थी को इस प्री एग्जाम कट ऑफ क्लियर को पास करना होता है और दूसरे चरण में आते ही इसके चार अलग-अलग एग्जाम्स यानी कि पेपर होते हैं सबसे पहला है जनरल स्टडीज1, दूसरा जनरल स्टडीज 2, तीसरा जनरल स्टडीज 3 और चौथा जनरल हिंदी या फिर जनरल इंग्लिश।

IAS कैसे बनते हैंअभी जानें?

यह पेपर 3 घंटे के होते हैं। प्रत्येक पेपर 200 नंबरों का होता है और तीसरे चरण की बात करें! जिसमें मैन एग्जाम शामिल होता है उसे उत्तीर्ण करना हर किसी के बस की बात नहीं है और नामुमकिन भी नहीं। इसी एग्जाम को मैन एग्जाम कहा जाता है जो कि सबसे महत्वपूर्ण एग्जाम होता है और आखिर में इंटरव्यू इन सभी प्रोसेस को पूरा करने के बाद व्यक्ति का इंटरव्यू होता है, जिसमें राजस्थान प्रशासनिक सेवा के परीक्षा का यह अंतिम चरण होता है। इसमें बड़े अधिकारी या सेवानिवृत्त RAS अधिकारी होते हैं जो इंटरव्यू को अंजाम देते हैं। इसके अंदर कम से कम 2 से 3 व्यक्ति शामिल होते हैं इसमें सामने वाले व्यक्ति की क्षमता, आत्मविश्वास, काबिलियत, भविष्य के बारे में सोच विचार जैसे प्रश्न एवं उसके हाव भाव से सबंधित सवालों को अंजाम दिया जाता है अंत में मेरिट के आधार पर उसका चयन होता है।

RAS Banne Ki Yogyata – आर.ए.एस बनने की योग्यता?

आपको पता होगा की किसी भी प्रकार की नौकरी पाने के लिए चाहे वह सरकारी हो या फिर प्राइवेट उसके लिए कुछ न कुछ योग्यताएं निर्धारित की होती है इसी प्रकार आर एस के लिए भी सरकार के द्वारा योग्यताएं जारी की गई है इन योग्यताओं को पूरा करने के बाद ही फॉर्म भर सकते है।

IB के बारे में – अभी जानें?

आर.ए.एस के लिए सबसे पहले व्यक्ति की आयु 21 से 35 साल के बीच होनी चाहिए और वह किसी भी विषय के साथ ग्रेजुएशन पास होना चाहिए और वह भारत का नागरिक होना चाहिए। आपको सबसे पहले इन योग्यताओ को पूरा करना बहुत ही जरुरी होता है अन्यथा आप है जो आर ए एस बनने की तैयारी नहीं  कर सकते हैं और आर एस बनने के लिए फॉर्म नहीं भर सकते।

Conclusion – निष्कर्ष

अगर आप भी आपको RAS से संबंधित कोई सवाल है तो आप हमें नीचे दिए गए कमेंट के कमेंट बॉक्स में कमेंट करके जरूर बताएं हम आपके सवाल का जवाब जरूर देंगे।  साथ ही आप इस पोस्ट को अपने दोस्तों के व्हाट्सएप, फेसबुक, टि्वटर आदि विभिन्न अलग-अलग सोशल मीडिया पर आगे जरूर भेजें ताकि उन्हें भी RAS  के बारे में पता चल सके और आर.ए.एस का मतलब मालूम हो सके ऐसी ही शानदार और मजेदार जानकारी पाने के लिए आप फिर से हमारी Job Alert Club वेबसाइट पर आ सकते हैं।

One comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.