मित्रों आज हम बात करने वाले है KYC के बारे में आख़िरकार KYC Full Form Kya Hai? KYC क्या होता है? और KYC का क्या उपयोग है KYC हमे क्यों आवश्यक है क्या हमे KYC करानी चाहिए, यह सब जानने के लिए बने रहे हमारी पोस्ट पर आपको KYC के बारे में सब पता चल जायेगा आख़िरकार KYC क्या होता है?

What is KYC & KYC Full Form.
What is KYC & KYC Full Form.

आप बैंक में खाता खुलवाने के लिए जाते है और आपको KYC करने के लिए बोला जाता है और आप समझ नहीं पाते हो की आखिर ये KYC क्या है? KYC किसे कहते है? और KYC कराने के लिए क्या डॉक्यूमेंट चाहिए और हम KYC कहाँ से और कैसे करवा सकते है तो आप बेनिश्चित होकर रहिये हम आपको सब छोटी से छोटी जानकारी इस पोस्ट में देंगे आपको इस पोस्ट के माध्यम से सब पता चल जाएगा की KYC होता क्या है?

KYC Full Form? KYC Full Meaning In HINDI?

साथियो आज आपके मन में उठने वाले जितने भी KYC से संबंधित सवाल है जैसे What is KYC Full FORM - KYC फुल फॉर्म क्या हैं? What is KYC - KYC क्या हैं? KYC कैसे करे? KYC के लिए क्या-क्या डॉक्यूमेंट? सब कुछ A-to-Z जानकारी दी हैं।

साथियो सबसे पहले बात करते है के.वाई.सी. के पूरे नाम के बारे में की KYC को अंग्रेजी और हिंदी में क्या कहा जाता हैं। सबसे पहले बताते है की इसको अंग्रेजी में KYC को क्या कहा जाता हैं या इसका अंग्रेजी में फुल नाम क्या है? KYC Full FORM - KNOW YOUR COMPUTER हैं? अंग्रेजी में इसकी फुल मीनिंग नो योवर कंप्यूटर है।

अंग्रेजी में इसकी फुल मीनिंग के बारे में आपको पता चल गया होगा तो अब मैं आपको इसका हिंदी में भी बता दू की हिंदी में इसका मतलब अपने ग्राहक को पहचानना/जानना होता है अर्थात आप व्यक्ति की पहचान से भी कह सकते हो।

  • KNOW= पहचानना/जानना
  • YOUR= अपने/हमारे 
  • COMPUTER= ग्राहक

What is KYC? KYC kya hota hai? What is KYC in Banking (SBI,RBI)?

मित्रों आसान शब्दों में आपको बताएं तो KYC का सीधा संबंध व्यक्ति की पहचान/ग्राहक की पहचान से होता है।आजकल KYC करना जरूरी हो गया है अगर आपको अभी तक समझ में नहीं आया है तो हम आपको विस्तार से समझाते है की KYC क्या है?

What is KYC & KYC kya hota hai?
What is KYC & KYC kya hota hai.

आपको बता दे की KYC आजकल करवाना बहुत जरूरी हो गया है। KYC की शुरुआत सबसे पहले RBI बैंक [भारतीय रिजर्व बैंक ] के द्वारा सन 2002 में की थी और उसके बाद सभी बैंकों में 2005 में KYC करना अनिवार्य हो गया।

आपको बता दे की KYC का उपयोग एकमात्र पहचान से है जैसा की आपको अगर बैंक में सार्वजनिक लॉकर लेना है या अकाउंट खुलवाना है या फिर आपको म्यूच्यूअल फंड्स खरीदने या ज्यादा पैसे की लेनदेन हो उस जगह पर आपको KYC करवाना जरूरी हैं।

KYC क्यों जरुरी है?

दोस्तों आपको बता दू की बैंक और अन्य जगह पर पूरी जानकारी न होने पर काफी घोटाले अर्थात फ्रॉड होते थे लेकिन अब ऐसा नहीं है क्योकि अब KYC में पूरी जानकारी रहती है जिससे की व्यक्ति की पहचान हो जाती है और होने वाले फ्रॉड से बचा जा सकता है।

आपको महत्वपूर्ण बात बता दे की KYC का उपयोग एकमात्र बैंक में न होकर की अन्य जगह पर भी होता है जैसे बिजनेस में,कंपनियों में, पहचान की जगह पर। इसी के साथ ही KYC करवाने के लिए बैंक के पास आपकी पहचान के साथ-साथ आपकी पूरी जानकारी होना आवश्यक है जैसे आपका पता,आपका देश,आपका शहर,गांव आदि। अतः अब KYC बहुत कुछ मायने रखती है।

How to Apply KYC in Banking & Online? KYC Verification Process? KYC कहाँ से करें? KYC कैसे करें?

दोस्तों आपको मैंने पहले ही ही बता दिया है की सिर्फ बैंक ही KYC नहीं करती है बल्कि अलग-अलग संस्थाएं भी वेरिफिकेशन के लिए KYC करती है अर्थात KYC करने के लिए फॉर्म भरवाती है जिसमें उस आदमी को पहचाना जा सके और फ्रॉड से बचा जा सके। अगर आपका बैंक में खाता है और वो किसी कारण से बंद हो गया हो या होल्ड पर हो तो आपको इस स्थिति में आपको बैंक में जाकर के KYC का फॉर्म भरना होगा और बैंक में जमा करके अपने डॉक्यूमेंट वेरीफाई करवाने होंगे जिससे आपकी KYC हो जाएगी और फिर आपका खाता खुल जाएगा।

अगर आपको भी KYC करवानी है तो आप बैंक में जाकर के करवा सकते है और उसमे आपको आपने डाक्यूमेंट्स वेरीफाई करवाने होंगे। KYC करने के लिए किसी एक डॉक्यूमेंट की जरूरत नहीं होती है बल्कि इसमें अलग-अलग डॉक्यूमेंट चाहिए। मित्रों आजकल ऑनलाइन काम होने कि वजह से आप घर बैठे भी ऑनलाइन KYC के लिए अप्लाई कर सकते हो कई ऐसी बैंक और संस्थाएं है जो घर बैठे ऑनलाइन KYC करवाती हैं।

Documents Required For KYC? KYC के डॉक्यूमेंट?

दोस्तों अगर आपको भी KYC करवानी है तो आप भी आसानी से KYC करवा सकते है। KYC करवाने के लिए आपके पास कुछ डाक्यूमेंट्स की जरूरत होगी जो की आपके  पास होने जरूरी है अन्यथा आप KYC नहीं करवा पाएंगे।

What is KYC & KYC Full Form.kyc documents
What is KYC Documents.

KYC के लिए 6 महत्वपूर्ण डाक्यूमेंट्स?
  1. आधार कार्ड 
  2. पहचान पत्र/वोटर आईडी कार्ड
  3. राशन कार्ड
  4. पासवर्ड फोटो
  5. ड्राइविंग लाइसेंस
  6. जॉब कार्ड
  7. कुछ अन्य कागजात 

कुछ अन्य कागजात जैसे - बैंक पासबुक,लाइट बिल,पानी बिल,टेलीफ़ोन बिल,पता प्रूफ हालांकि ज्यादातर स्थिति ये कुछ अन्य कागजात की जरूरत नहीं पड़ती है लेकिन कहीं-कहीं ये सब माँगा जाता हैं। मित्रो आख़िरकार आपको KYC के बारे में सब पता चल गया होगा की KYC क्या है।

Types of KYC in Hindi? KYC के प्रकार?

आप KYC के बारे तो जान गए होंगे पर आपको ये नहीं पता होगा की KYC कितने प्रकार की होती है तो आपको बता दे की KYC दो प्रकार की होती है दोनों KYC के अलग-अलग उपयोग है और अलग-अलग उपयोग की वजह से इन दोनों का अलग-अलग काम है।

  1. Based on Aadhaar (EKYC) - आधार पर आधारित के.वाई.सी.
  2. (IPV) In-Person Verification KYC (CKYC) - व्यक्ति-सत्यापन के.वाई.सी.

सबसे पहले बात करते हैं आधार पर आधारित के.वाई.सी. पर इसको Electronic Know Your Customer भी कहा जाता हैं। अगर आपको यह KYC करवानी है तो इसकी कुछ लिमिट्स निर्धारित की गई है। इसके अंदर आप आधार के जरिये या अन्य किसी कागजात की मदद से KYC करवा पाएंगे और कुछ ही सेवाओं का लाभ उठा पाएंगे।

अब बात करते है व्यक्ति-सत्यापन के.वाई.सी. पर इसको Central Know Your Customer कहा जाता हैं। यह सेंट्रल पर आधारित होने की वजह से इसमें बैंकों के साथ-साथ वित्तीय संस्थाओं द्वारा KYC की जाती है। इसके अंदर आपको कई सुविधाएं मिलती है और ये KYC वो लोग करवाते जो इन्वेस्ट करते हो और जिनके पास अच्छा ख़ासा पैसा हों। अगर आप अधिक लेन-देन करते है तो ही आप ये KYC करवाए। 

Conclusion?

मित्रो अगर आपको KYC से संबंधित कोई सवाल या सुझाव है तो आप हमें कमेंट में कमेंट करके जरूर बताये हम आपके सवाल का जवाब जरूर देंगे साथ ही अगर आपको पोस्ट अच्छी लगी हो तो आप अपने दोस्तों के साथ वाट्सएप,फेसबुक,इंस्टाग्राम,ट्विटर,आदि सोशल मीडिया पर जरूर भेजें ताकि उनको भी KYC के बारे पता चल सके।