NDTV Full Form? NDTV Owner Name? What is NDTV?

दुनिया भर के चैनलों में NDTV का नाम भी मौजूद है यह एक ऐसा चैनल है जिसकी शुरुआत काफी समय पहले हुई थी। जो आज विश्व की खबरों का ज्ञान फैलाता है। जिसने भारत में ही नहीं बल्कि विदेशों में भी अपनी छवि बना कर रखी है। आज आपको NDTV से संबंधित पूरी जानकारी पोस्ट में दी गई है जिसके बारे में विस्तार से जानकारी हासिल कर पाएंगे।
NDTV Full Form
मित्रों पिछली पोस्टों में हमनें {WHO} {B.ed} {Kargil War} {NDTV} {B.Tech} {OK}आदि के बारे में आप यहां ऊपर इन लिंक पर क्लिक करके इनकी फुल फॉर्म के बारे में और विस्तार से जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

NDTV Full Form? NDTV Ka Full Form?

NDTV (India) की फुल फॉर्म क्या है हम आपको बताते हैं। NDTV Full Form:- New Delhi Television Limited (NDTV). इसे हिंदी में नई दिल्ली टेलीविजन कहा जाता है। यह एक भारतीय मीडिया चैनल/कंपनी है जो दुनिया भर के समाचार को प्रतिष्ठित करता है। आपको NDTV की फुल फॉर्म के बारे में पता चल गया होगा। अब हम आपको इसके बारे में विस्तार से जानकारी देने वाले हैं ताकि आपको NDTV के बारे में संपूर्ण जानकारी हासिल हो सके और हमारे देश का चैनल दुनिया भर में जाना जा सके।
 
NDTV Full Form – NDTV Ka Full Form
  • N – New
  • D – Delhi
  • T – Television
  • V – Limited

ABP के बारे में – अभी जानें?

NDTV क्या हैं? NDTV India

NDTV भारत का एक समाचार चैंनल है। यह चैंनल हर प्रकार की ख़बरें प्रोवाइड करता है। आपको बता दें इस चैनल की शुरुआत यानी कि NDTV न्यूज़ चैनल की शुरुआत 32 साल पहले 1988 में हुई थीं। इस चैनल ने लाइव चुनाव कवरेज के माध्यम से अपने कदम बढ़ाने शुरू कर दिए थे। NDTV को 1998 में ऑनलाइन लॉन्च कर दिया गया था। उस समय भी दुनिया के विभिन्न चैंनलों के साथ NDTV का नाम भी मौजूद था। इस चैनल की शुरुआत दो व्यक्तियों के द्वारा गई थी। वे दोनों ही पत्रकार थे जिनका नाम राधिका राय और प्रणव राय था। यह भारत का सबसे पहला और बड़ा समाचार चैनल है। वर्तमान में इस चैनल की Following तेजी से बढ़ रही है।

इस चैनल का मुख्यालय नई दिल्ली में मौजूद है। इस चैनल के अंदर वर्तमान में 550 से अधिक कर्मचारी कार्य करते हैं। इस चैनल में सबसे प्रसिद्ध और अच्छे संवाददाता इसके हिस्सेदार है। NDTV चैनल के मुख्य रूप से बड़े-बड़े शहरों में 23 कार्यालय मौजूद है और साथ में कुछ स्टूडियो भी है। देश के अलग-अलग हिस्सों से इस चैनल के द्वारा खबरों का प्रचार किया जाता है। NDTV ने 1998 में बड़े-बड़े स्टार के साथ मिलकर NDTV India और NDTV 24×7 की शुरुआत की। इसके कुछ साल बाद यानी कि सन 2003 में दूसरों का साथ छोड़कर स्वयं ही एकमात्र अकेला आगे बढ़ा। NDTV का नारा भी था-‘अनुभव सत्य प्रथम'(Experience Truth First)।
 

NDTV Owner Name? NDTV India Owner?

 प्रणय राव का जन्म 15 अक्टूबर 1950 को पश्चिम बंगाल में हुआ था। प्रणय राव NDTV के ओनर है। उन्होंने पत्रकारिता में अपनी भूमिका अदा की। प्रणय राव को रेड लिंक अवार्ड दिया गया था। साथ ही एशियन टेलीविजन अवॉर्ड भी स्वीकृत किया गया था। प्रणय राव को शुरुआती दिनों से ही पत्रकारिता में अपनी रुचि रखी थी इसीलिए सन 1984 में अपनी पत्नी के साथ मिलकर अपने चैनल एनडीटीवी की शुरुआत की थी एन.डी.टीवी में इनकी पत्नी का बहुत ज्यादा योगदान रहा है।

NDTV का इतिहास। NDTV की जानकारी।

NDTV ने इस सफर के चलते अपना इतिहास भी रचा है। आज विभिन्न चैनलों के साथ NDTV का नाम सबसे पहले आता है। तो अब हम आपको NDTV के कुछ तथ्य आपको बताते हैं।

  • NDTV ने सन 1989 के दशक में The world this week की स्थापना की थी। जिसे हमारे देश के शीर्ष 5 कार्यक्रमों में शामिल किया गया था।
  • उसके बाद सन 1990 में NDTV ने वार्षिक केंद्रीय बजट की लाइव कवरेज का निर्माण किया था।
  • NDTV ने 1995 में एक राष्ट्रीय समाचार शो जिसका नाम ‘आज रात’ था, जिसका दूरदर्शन पर प्रसारण किया गया था।
  • सन 1999 में NDTV ने अपनी पहली वेबसाइट जारी की थी। जो वर्तमान में एक बड़ी वेबसाइट बन चुकी हैं। आपको वहाँ पर हर प्रकार की लेटेस्ट न्यूज़ मिल जाएगी।
  • NDTV ने सन 2001 में 6 हीरो होंडा ITA अवॉर्ड जीते। सन 2004 में स्वतंत्र समाचार प्रसारक बन और वर्ल्डस्पेस के साथ एयर न्यूज के साथ भी जुड़ गया था।
  • NDTV ने जनवरी 2005 को अपने एक बिजनेस चैनल की भी शुरुआत की थी। सन 2006 में करण जौहर और धर्मा प्रोडक्शन के साथ मिलकर राजनीतिक गठबंधन में प्रवेश किया था।
  • इस चैनल को आगे बढ़ने के लिए एक से बढ़कर एक चुनौतियों का सामना करना पड़ा जिसमें से मुख्य चुनौतियां ये थी- विवाद, भ्रष्टाचार और अपराधिक साजिश, राडिया टेप विवाद, कर धोखाधड़ी, राष्ट्रमंडल खेल अनुबंध, टीम इंडिया के ख़िलाफ़ मुकदमा, एक दिन का प्रतिबंध, 2008 का ऋण प्रकरण, बाहरी विवाद, आंतरिक विवाद आदि ऐसी चुनौतियां थी जिसका NDTV ने सामना किया था।
दोस्तों अगर आपको यह पोस्ट पसंद आई है तो आप इसे अपने दोस्तों के व्हाट्सएप,फेसबुक,इंस्टाग्राम, टि्वटर आदि सोशल मीडिया पर जरूर शेयर कीजिएगा। ताकि उन्हें भी NDTV Full Form के बारे में पता चल सके। अगर आपको इस पोस्ट से संबंधित कोई सवाल जवाब है तो आप हमें नीचे दिए गए कमेंट के बॉक्स में कमेंट करके जरूर बताएं हम आपके कमेंट का जवाब देने की पूरी कोशिश करेंगे।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *